HTML tag क्या है और कैसे काम करता है ?

HTML tags in Hindi

  • Introduction to HTML tags in Hindi
  • Syntax of HTML tags in Hindi
  • Types of HTML tags in Hindi

Introduction to  HTML tags in Hindi

HTML फ़ाइल टैग और text  का एक संयोजन है। HTML टैग्स को HTML एलिमेंट्स भी कहा जाता है। यदि आप टैग की अवधारणा को अच्छी तरह से समझते हैं, तो आप HTML को बहुत आसानी से समझ सकते हैं। क्योंकि HTML पूरी तरह से केवल  टैग  द्वारा  ही work करता है। प्रारंभ में जब HTML डिजाइन किया गया था,तो इसका उपयोग केवल webpages में text को display करने के लिए किया गया था। उस समय HTML सीमित था और इसमें बहुत कम टैग थे। HTML टैग के माध्यम से webpages में text dislpay करने की प्रक्रिया को text को mark करना कहा गया ।

उस समय, HTML का उपयोग केवल उन कंप्यूटर वैज्ञानिकों द्वारा किया जाता था, जो अपने papers को HTML के माध्यम से World Wide Web पर publish करते थे ताकि अन्य वैज्ञानिक इसे पढ़ सकें। लेकिन HTML इतना सरल और प्रभावी था कि यह बहुत लोकप्रिय हो गया और बहुत से लोग इसे use करने लगे । धीरे-धीरे जैसे ही HTML लोकप्रिय हुआ, वेब पेजों में विभिन्न elements को दिखाने की आवश्यकता बढ़ गई। अब HTML केवल एक text markup भाषा नहीं रही ।

अब आप HTML के माध्यम से वेब पेजों में विभिन्न प्रकार के elements जैसे list,images ,table ,audio, graphics आदि सम्मिलित कर सकते हैं। HTML टैग्स के द्वारा किसी भी वेब पेज में विभिन्न प्रकार के element जैसे- list , images ,table ,video आदि  डाले जाते हैं। जो भी आप वेब पेज में जोड़ना चाहते हैं, आप उसे केवल टैग के माध्यम से जोड़ सकते हैं। इसके लिए HTML आपको कई टैग देता है। ये सभी tags interpreter से familiar होते हैं।

Interpreter एक प्रोग्राम है जो सभी वेब ब्राउज़र में होता है। यह प्रोग्राम  HTML टैग को identify करता  है और उन्हें वेब पेज में उसी के अनुरूप text, list, image और tables आदि को show करता है।

मूल रूप से इस टैग के द्वारा आप इंटरप्रेटर को यह बताते हैं कि आप वेब पेज में क्या show करना चाहते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप किसी वेब पेज में कोई image जोड़ना चाहते हैं, तो आप उसकी HTML फ़ाइल में <img> टैग को परिभाषित करेंगे।

ज्यादातर HTML tags का purpose आप उनके नाम द्वारा ही समझ सकते है। उदाहरण के लिए <table> tag को webpage में table insert करने के लिए use किया जाता है। जैसे जैसे आप इन्हें use करना शुरू करते है तो आपको आसानी से याद रहता है की कोई particular tag किस लिए use किया जाता है।

Syntax of HTML Tags

HTML एक language है क्योंकि यह Web Document Create करने के लिए code-words का use करती है। जिन्हें टैग्स कहते हैं।और इन टैग्स  को लिखने के लिए HTML का syntax भी होता है। इसलिए यह एक language भी है। नीचे HTML का syntax दर्शाया गया है।

<TagName>Text</TagName>

HTML syntax के तीन part  Element, Tags और Text होते हैं। HTML Element HTML टैग  से मिलकर बनता है। एंजेल  ब्रैकेट के बीच जो word लिखा होता है इसे HTML Tag कहते हैं यह two types का होता है first, Opening tag और second Closing tag. और last part होता है Text जो HTML Tag के बीच लिखा जाता है।

Types of HTML Tags

HTML में कई प्रकार के tags available हैं। कुछ tags text को format करने के लिए use किये जाते है तो कुछ multimedia elements जैसे की images, audio, video आदि insert करने के लिए use किये जाते हैं।

HTML के कुछ tags lists, tables और sections आदि create करने के लिए use किये जाते हैं तो कुछ tags container की तरह भी work करते  जिनके अंदर दूसरे tags को define किया जाता है जो उसके sub tags होते है।

Basic Tags

वे tags जो सभी HTML documents में अनिवार्य रुप से use किये जाते है। Basic tags कहलाते हैं।Basic tags किसी HTML document के core structure को define करते हैं।

  • <html> – यह टैग HTML file को define करता है। प्रतियेक HTML file की starting इसी tag से की जाती है।
  • <head> – इस tag के अंदर web page से related scripts और styles define की जाती हैं।
  • <title> – इस tag के द्वारा web page का title define किया जाता है।
  • <body> – इस tag के अन्दर webpage का मुख्य content define किया जाता है।

Formatting Tags

वे tags जो text को format करने के लिए use किये जाते हैं Formatting Tags कहलाते हैं। ये tags केवल text पर ही apply होते है और उसकी presentation को control करते हैं।

  • <i> – इस tag का use text को italic बनाने के लिए किया जाता है।
  • <b> – इस tag का use text को bold करने के लिए किया जाता है।
  • <u> – इस tag का use text को underline करने के लिए किया जाता है।
  • <ins> – इस tag के द्वारा ऐसे text को define किया जाता है जो content में बाद में add किया गया है।
  • <mark> – इस tag का use text को highlight करने के लिए किया जाता है।
  • <sup> – इस tag का use text को superscript के रूप में define करने के लिए किया जाता है।
  • <sub> – इस tag का use text को subscript के रूप में define करने के लिए किया जाता है।
  • <del> – इस tag का use  text को deleted show करने के लिए किया जाता है।
  • <strong> – इस tag का use text को bold करने के लिए किया जाता है।

Form and Input Tags

Form Tag और Input tags का use web page में forms create करने और user से input प्राप्त करने के लिए किय जाता है।

  • <form> – इस tag का use, form elements create करने के लिए किया जाता है।
  • <input> – इस tag का use different form elements को create करने के लिए किया जाता है।
  • <textarea> – इस tag के द्वारा text area create किया जाता है।
  • <button>  – इस tag के द्वारा buttons create किये जाते हैं।
  • <select> – यह drop down list create करने के लिए container tag होता है।
  • <optgroup> – इस tag की help से drop down menu में related options का group create किया जाता है।
  • <option> – इस tag के द्वारा drop down list के options define किये जाते हैं।
  • <label> – इस tag का use text label define करने के लिए किया जाता है।
  • <fieldset> – इस tag की help से किसी form में related elements को create किया जाता है।

Frame Tags

Frame tags का use एक web page को frames के रूप में divide करने के लिए किया जाता है।

  • <frame> – यह tag frame elements के लिए container का work करता है।
  • <frameset> – इस tag के द्वारा frames define किये जाते हैं।
  • <noframes> – इस tag के द्वारा उन browsers के लिए content define किया जाता है। जो forms को support नहीं करते हैं।
  • <iframe> – इस tag के द्वारा inline frames define किये जाते हैं।

Image Tags

Image tags का use web page में images को include और render करने के लिए किया जाता है।

  • <img> – इस tag के द्वारा web page में image include की जाती है।
  • <map> – इस tag के द्वारा एक image map include किया जाता है।
  • <area> – इस tag के द्वारा map में किसी particular location को show किया जाता है।

Link Tags

Link tags का use web page में links create करने के लिए किया जाता है। Links एक page से दूसरे page तक travel करने के लिए use की जाती है।

  • <a> – इस tag के द्वारा web page में link define की जाती है।
  • <link> – इस tag के द्वारा HTML file को CSS file से जोड़ा जाता है।

List Tags

List tags का use web page में lists create करने के लिए किया जाता है।

  • <ul> – यह tag का use unordered list create create करने के लिये किया जाता है।
  • <ol> – यह tag का use ordered list create create करने के लिये किया जाता है।
  • <li> – इस tag के द्वारा list के item define किये जाते हैं।

Table Tags

Table tags का use web pages में tables create करने के लिए किया जाता है।

  • <table> – इस  tag का use table create करने के लिए किया जाता है।
  • <th> – इस tag का use table की heading define करने के लिये किया जाता है।
  • <tr> – इस tag का use table की rows define करने के लिये किय जाता है।
  • <td> – इस tag का use table के columns define करने के लिये किय जाता है।
  • <thead> – इस  tag के दवारा  table के header content का group create किय जाता है।
  • <tbody> – इस tag के दवारा table के body content का group create लिय जाता है।
  • <caption> – इस tag के द्वारा table का शीर्षक define किया जाता है।

Style Tags

Styles tags का use different type की styles apply करने के लिए किय जाता है।

  • <style> – style tag के अंदर HTML document के लिए CSS(style) define की जाती है।

Section Tags

Section tags किसी container की भाती work करते हैं।

  • <div> – यह tag का use एक block section create करने के लिये किया जाता है।
  • <span> – यह tag का use एक inline section create करने के लिये किया जाता हैं।
  • <section> – इस tag का use document को कई sections में divide करने के लिये किया जाता है।

Scripting Tags

Scripting tags का use web page में scripts apply करने के लिए किय जाता है।

  • <script> – इस tag के अंदर हम HTML के साथ use की जाने वाली script को define करते हैं।
  • <noscript> – जब browsers में script को disable कर दिया जाता है। तो इस tag के अंदर content को define करते हैं।